पालतू कुत्तों के लिए भी 10 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा, इलाज खर्च से निपटने को बड़ी पहल

Share this post

अब लोग अपने पालतू कुत्तों के लिए भी 10 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा लेने लगे हैं। इसके चलते निजी बीमा कंपनियों ने नए प्लान निकाले हैं। पिछले दो सालों में कुत्तों का बीमा लेने वालों की संख्या बढ़ी है। मालूम हो कि नोएडा और ग्रेटर नोएडा में ही बीमा कंपनियों द्वारा 100 से अधिक कुत्तों की हेल्थ पॉलिसी दी जा चुकी है।

वन्य प्राणियों के घरों में इंसानों की दस्तक से आबादी क्षेत्र में पहुंच रहे वन्य प्राणी, कहीं तेंदुआ, कहीं भालू तो कहीं जंगली हाथी, पढ़े पूरी खबर

 

जिले की एक निजी यूनिवर्सिटी में प्रवक्ता ने करीब दो माह पहले चालीस हजार रुपये में जर्मन शैफर्ड नस्ल का बेबी डॉग लिया था। उन्होंने उसका एक इंश्योरेंस कंपनी से दस लाख रुपये का बीमा कराया है।

अवैध संबंध के आरोप में महिला पुरुष को कपड़े उतार कर घुमाया, पेड़ से बांधकर रात भर की पिटाई

 

काफी महंगा है इलाज :
नोएडा के सेक्टर-27 में रहने वाले कारोबारी अमित गुप्ता बीगल नस्ल का बेबी डॉग लाए थे। करीब दो माह पहले उसकी तबीयत खराब होने पर उन्होंने इलाज कराया तो उस पर करीब 38 हजार रुपये खर्च हो गए। इसके बाद उन्होंने भी उसका दस लाख रुपये का बीमा करा दिया। इसी तरह, सेक्टर-63 में रहने वाले आईटी इंजीनियर निखिल ने शैनबनार्ड नस्ल का बेबी डॉग लिया और उसके दो महीने का होते ही उन्होंने इसका बीमा करा दिया है।

गैस रिफलिंग रॉड और गैस रेगुलेटर का अवैध रूप से कर रहा था बिक्री, तभी पहुंच गई मनीष नागर की टीम, आरोपी के पास से…..पढ़िये पूरी खबर

 

भत्ता दे रही कंपनी :
एक निजी बीमा कंपनी ने कुत्तों के लिए इमरजेंसी पेट माइंडिंग कवर देने की घोषणा की है। इस कवर के तहत घर के सदस्यों के अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति में पालतू जानवरों की देखभाल करने वाले को शामिल किया गया है। ऐसे लोगों को दैनिक भत्ता दिया जाएगा। इस पॉलिसी का शुरुआती प्रीमियम 323 रुपये प्रति महीने है। इसमें बीमारी, सर्जरी और अस्पताल में भर्ती के अलावा पालतू कुत्ते की मौत के बाद के खर्च कवर हैं। यह पॉलिसी छह माह से चार साल तक के कुत्तों के लिए है।

आपराधिक गतिविधियों में शामिल लोगों को सही जगह पहुंचाने महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे थाना प्रभारी मनीष नागर, इस बार तो……..पढ़ें पूरी खबर

 

डॉग पार्क बन रहा
नोएडा प्राधिकरण की ओर से सेक्टर-137 में सबसे बड़े डॉग पार्क का निर्माण किया जा रहा है। 3.5 एकड़ में यह डॉग पार्क शीघ्र तैयार होगा। यहां कुत्तों को घुमाने, प्रशिक्षण दिलाने और खेलने की सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। निर्माण पूरा होने के बाद एजेंसी को इसकी जिम्मेदारी दी जाएगी। पार्क में छोटे-बड़े कुत्तों के लिए अलग-अलग व्यवस्था होगी।

तीन दशकों से आयोजित हो रहे नाम यज्ञ में मल्दा पहुँचे भाजपा जिलाध्यक्ष उमेश अग्रवाल , क्षेत्र की खुशहाली का आशीर्वाद भी माँगा

 

नया प्रचलन
एक निजी बीमा कंपनी के कर्मचारी ने बताया कि पांच लाख से दस लाख रुपये तक के प्लान लिए जा रहे हैं। कुत्ते के बीमार होने पर उसके अस्पताल में भर्ती होने का खर्चा व उसकी ओपीडी का खर्चा बीमा कंपनी देती है।

फेसबुक में महिला से की दोस्ती, लिया मोबाइल नम्बर और किया प्यार का इज़हार, शादी का दिया झांसा, पढ़े पूरी खबर

 

कुत्तों के लिए रेस्टोरेंट
नोएडा के सेक्टर-104 में एक ऐसा रेस्टोरेंट है, जिसे खासतौर पर कुत्तों के लिए डिजाइन किया गया है। यहां इंसानों के साथ कुत्ते भी अलग-अलग तरह के व्यंजनों का लुत्फ उठा सकते हैं। मेन्यू में जहां लोगों के लिए खाने की काफी डिश हैं, वहीं डॉग्स के लिए 15 अलग-अलग तरह के पकवान हैं। साथ की पांच तरह की ड्रिंक्स भी उनके लिए उपलब्ध हैं। तीन दोस्तों ने इसी शुरुआत की थी।

Related Posts